३० दिन के अगले कदम

जॉन बेकेट, एक प्रमुख व्यापारी हैं जिन्होंने नए विश्वासियों के लिए 30 दिन में पढ़ने के लिए एक श्रृंखला लिखी है।

परिचय

वचन: “देखो, सब नया हो गया” (२ कुरिन्थियों ५: १७ / 2 Corinthians 5:17)

और पढ़िए

दिन १: व्यक्तिगत रूपान्तरण

क्या होता है वास्तव में जब में मसीह के पीछे चलने का निर्णय लेता हूँ?

और पढ़िए

दिन २: यात्रा की शुरुआत

इस यात्रा में मुझे कैसी अपेक्षा रखनी चाहिये?

और पढ़िए

दिन ३: परमेश्वर अंदर से बाहर की ओर कार्य करते हैं

पहले मुझे क्या करना है?

और पढ़िए

दिन ४: बाईबल: एक शब्द जो सभी उम्र के लोगों के लिये होती है

मेरे आत्मिक विकास का सर्वोत्तम आधार क्या है?

और पढ़िए

दिन ५: परमेश्वर प्रेम है

परमेश्वर मुझे प्रेम करते है इसका निश्चय कैसे हो?

और पढ़िए

दिनः ६ परमेश्वर को जवाब देना

मैं परमेश्वऱ को क्या उत्तर दूँ?

और पढ़िए

दिन:७ जीवन का अर्थ

जीवन में सबसे महत्वपूर्ण क्या है?

और पढ़िए

दिन ८: तीस दिन क्यों?

अच्छे बदलाव कब शुरू होंगे?

और पढ़िए